कोयला भी निखारता है रंग 

चारकोल यानी कोयला जो हर चीज को काला कर देता है पर क्या आप जानती हैं वह आपकी खूबसूरती को निखारने में कई तरह से आपकी सहायता कर सकता है। भारत में कोयल का इस्तेमाल काफी पहले से होता रहा है। 
यह दो तरह का होता है कोयला – असली और कच्चा कोयला जो चेहरे को काला और गंदा कर सकता है और ऐक्टिवेटेड चारकोल जो कार्बन का प्रोसेस्ड फॉर्म है। इसका इस्तेमाल क्लींज़र, फेस मास्क, स्क्रब और साबुन के तौर पर किया जाता है। यह स्किन ( त्वचा ) की कई परेशानियों को दूर करने में मदद कर सकता है।  ऐक्टिवेटेड चारकोल के लाभ इस प्रकार हैं
ब्लैकहेड्स दूर करे 
अगर ब्लैकहेड्स की समस्या से जूझ रही हैं, तो आपको जरूरत है ब्लैकहेड्स रिमूवल स्ट्रिप की, जिसमें ऐक्टिवेटेड चारकोल हो। यह चेहरे में गहराई तक जाकर ब्लैकहेड्स को जड़ से खत्म कर देता है। यही नहीं, बेहतरीन क्लींजिंग प्रॉपर्टीज की वजह से चारकोल बेस्ड प्रॉडक्ट्स चेहरे के मुहांसों को खत्म करने में मदद करते हैं। ये न सिर्फ स्किन को क्लीन करते हैं, बल्कि पोर्स को भी साफ करके त्वचा की चमक को दिन भर बनाए रखने में मदद करते हैं। इससे फेस पर गंदगी जमा नहीं हो पाती।
सनस्क्रीन के तौर पर करे काम 
बदलते मौसम का सबसे सबसे ज्यादा असर पड़ता है हमारे फेस की स्किन पर। सूरज के सीधे संपर्क में आने से स्किन ड्राई और डल हो जाती है। ऐसे में चारकोल स्किन को हेल्दी बनाने के साथ ही उसे सूरज की हानिकारक किरणों के साइड इफेक्ट से भी बचाता है।
प्रदूषण से करता है बचाव 
प्रदूषण के साइड इफेक्ट से त्वचा को बचाने में चारकोल से बेहतर कोई विकल्प नहीं है। ऐक्टिवेटेड चारकोल टॉक्सिन्स को खींच लेता है। हर रात सोने से पहले चारकोल आधारित फेशवॉश का इस्तेमाल आपको निखारेगा। 
टॉक्सिन की तरह ही, गंदगी और ऑयल के लिए भी चारकोल एक मैगनेट की तरह है। जब आप अपने चेहरे को चारकोल बेस्ड फेसवॉश से धोती हैं, तो इससे आपकी स्किन में मौजूद गंदगी और अतिरिक्त ऑयल पोर्स से बाहर निकल जाता है और आपको मिलती है बिल्कुल साफ और दमकती त्वचा। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *