जनता चाहती है मोदी जी के नेतृत्व में फिर बने एनडीए सरकारः राकेश सिंह

भोपाल। देश की जनता की उम्मीदें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी है। देश की जनता चाहती है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में फिर से एनडीए और भारतीय जनता पार्टी की सरकार बने। इस चुनाव में सवाल कांग्रेस की उम्मीदों का नहीं, बल्कि देश की जनता की उम्मीदों का है। यह बात पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद राकेश सिंह ने बुधवार को प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर में पत्रकार बन्धुओं से चर्चा के दौरान कही।
राकेश सिंह ने मीडिया से चर्चा के दौरान कहा कि कर्ज माफी के मुद्दे पर कांग्रेस एक्सपोज हो गई है। कांग्रेस ने 10 दिन में कर्ज माफी की घोषणा की थी, लेकिन 2 महीने बीतने पर भी कांग्रेस की सरकार फॉर्म भरवाने में लगी हुई है। कर्ज माफी के मुद्दे को उलझाने की कोशिश कर रही है। उन्होंने कहा कि पंजाब, कर्नाटक और मध्यप्रदेश में कांग्रेस ने किसानों के साथ धोखा किया है। प्रदेश के युवा और किसानों को कांग्रेस ने कर्ज माफी के वादे से बरगलाने की कोशिश की है। चुनाव के दौरान कांग्रेस की घोषणाओं पर किसी को कोई आपत्ति नहीं, परन्तु सरकार बनने के बाद उन घोषणाओं से मुकरना प्रदेश की जनता के साथ खिलवाड़ करने जैसा है।
राकेश सिंह ने कहा कि कांग्रेस के नेता देश में लोकसभा चुनाव के मद्देनजर केवल घोषणाएं ही कर रहे हैं। यह कांग्रेस का चरित्र है कि चुनाव के बाद कांग्रेस हाथ खड़े कर देती है। कांंग्रेस द्वारा जंबूरी मैदान में आयोजित किए जा रहे कार्यक्रम को लेकर उन्होंने कहा कि कांग्रेस की परंपरा है कि वह अपने बूते लोग इकट्ठे नहीं कर सकती, इसलिए सरकारी संसाधनों, सरकारी मशीनरी का उपयोग कर भीड़ इकट्ठी करने की कोशिश करेगी।
 उन्होंने कहा कि कांग्रेस के नेता शुचिता और स्वच्छता की बात करें तो देश की जनता को हंसी आती है। कांग्रेस के ऐसे नेता जो संपत्ति इकट्ठी करने के स्वार्थ को लेकर सरकार में आए हैं, उनके मुंह से इस तरह की बातें शोभा नहीं देती हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार ने शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में अच्छा काम किया है। भाजपा सरकार ने ऐसी योजनाएं चलाईं जिनकी गूंज दुनिया भर में सुनाई देती है। अब कांग्रेस इन योजनाओं को बंद करके, नाम बदलकर निंदनीय काम कर रही है। सिंह ने कहा कि कांग्रेस के पास गांधी परिवार के अलावा और कोई नाम नहीं है। सरकार में आने से पहले कांग्रेस से बड़ा हिंदुत्ववादी कोई नहीं होता, लेकिन एक बार चुनाव जीतने के बाद इस मुद्दे को वह भूल जाते हैं। वंशवाद की बात कांग्रेस के लिए पुरानी हो चुकी है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में परिवारवाद और वंशवाद के अलावा और कुछ भी नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *