जेट एयरवेज के पायलटों को नौकरी देने की तैयारी में इंडिगो, देगी मुआवजा

नई दिल्ली । वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज की मुश्किलें कम होने की जगह लगातार बढ़ती जा रही हैं। बीते कुछ दिनों में कंपनी ने किराया नहीं चुकाने की वजह से 30 से ज्‍यादा विमान की उड़ान पर रोक लगा दी है। अब बोइंग 737 मैक्स के भारत में उड़ान पर प्रतिबंध की वजह से भी कंपनी को बड़ा झटका लगा है। इस बुरे हालात में प्रतिद्वंदी कंपनी इंडिगो ने जेट एयरवेज के कर्मचारियों को नौकरी का ऑफर की है। इंडिगो ने यह ऑफर उस समय में दिया है, जब जेट एयरवेज ने अपने पायलटों को कई महीने से सैलरी नहीं दी है।
इंडिगो के प्रवक्‍ता ने कहा कि जेट एयरवेज के पायलटों को इंडिगो नौकरी का ऑफर देता है। हालांकि इंडिगो प्रवक्‍ता ने उन खबरों को खारिज किया है जिसमें कहा जा रहा था कि जेट एयरवेज के पायलटों को कंपनी बोनस भी देगी। प्रवक्‍ता ने कहा, हम बोनस नहीं दे रहे हैं हम बकाया वेतन के लिए मुआवजे की पेशकश कर रहे हैं। उन्‍होंने साथ ही यह भी कहा कि हमारे पायलट हायरिंग प्रोग्राम का जेट एयरवेज भी हिस्सा है यानि जेट एयरवेज के पायलटों की भर्ती भी की जा सकती है। हालांकि इंडिगो प्रवक्‍ता ने यह भी कहा कि पायलट हायरिंग प्रक्रिया सिर्फ जेट एयरवेज के लिए नहीं है बल्कि एविएशन इंडस्‍ट्री की दूसरी कंपनियों के पायलट भी इसका हिस्‍सा हैं। बता दें कि इंडिगो एयरलाइन पायलट की कमी से जूझ रहा है।
दरअसल वित्तीय संकट से जूझ रही जेट एयरवेज ने बीते कुछ दिनों में पट्टा किराए का भुगतान नहीं होने की वजह से 30 से ज्‍यादा विमान खड़े कर दिए हैं। मंगलवार को कंपनी ने 4 विमान खड़े किए। इसके पूर्व जेट एयरवेज को इक्विटी भागीदार और सउदी अरब की एतिहाद एयरवेज ने 1,600 से 1,900 करोड़ का निवेश करने के संकेत दिए हैं। इस निवेश के बाद एतिहाद की जेट एयरवेज एयरलाइन में हिस्सेदारी बढ़कर 24.9 फीसदी हो जाएगी। इस बीच भारत ने बोइंग 737 मैक्स 8 विमान को प्रतिबंधित कर दिया है। भारत सरकार के इस फैसले का जेट एयरवेज पर भी असर देखने को मिल रहा है। बुधवार को सेंसेक्‍स में जेट एयरवेज के शेयर 3.64 फीसदी गिरकर 236 के स्‍तर पर आ गए। दरअसल, जेट एयरवेज के पास 5 बोइंग 737 मैक्स 8 विमान हैं। बीते दिनों इथोपिया के अदीस अबाबा में बोइंग का 737 मैक्स-8 विमान दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद भारत समेत दुनिया के कई देशों में इस विमान पर रोक लगा दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *