24 घंटे उड़ानों वाले हवाई अड्डों में शामिल कराने मुहिम चलेगी  

भोपाल । राजधानी के राजा भोज एयरपोर्ट को  24 घंटे उड़ान संचालन वाले हवाई अड्डों में शामिल करने की मुहिम शुरू करने का निर्णय लिया गया है। सपोर्ट भोपाल फॉर एयर कनेक्टिविटी अभियान की टीम ने यह निर्णय लिया है। टीम लंबे समय से भोपाल से हवाई यातायात बढ़ाने के लिए प्रयासरत है। इस सिलसिले में टीम ने मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं नागरिक उड्डयन मंत्रालय को पत्र लिखा है। टीम के सदस्यों ने कहा है कि नई उड़ानें शुरू होने से यात्रियों को सुविधा हो गई है। यदि 24 घंटे उड़ान संचालन होता है तो पुणे, कोलकाता, चंडीगढ़, चैन्नई एवं गोवा जैसे शहरों की उड़ानें भी शुरू हो सकती हैं। इन शहरों की उड़ानें शुरू होने से यात्री कनेक्टिंग उड़ानों से दुबई, सिंगापुर, हांगकांग आदि इंटरनेशनल रूट पर सफर सकते हैं। टीम प्रमुख प्राची बलुआपुरी, डा. तुषार कुलकर्णी, राज सरकार, रिचा माटे एवं नीरज सिंघल आदि ने मुख्यमंत्री कमलनाथ से मदद मांगी है। 
    टीम के सदस्य इस संबंध में नागरिक उड्डयन मंत्रालय एवं एयरपोर्ट अथारिटी के संपर्क में भी हैं। टीम ने एयरपोर्ट डायरेक्टर से भी मुलाकात की। एयर इंडिया ने हाल ही में देश के बड़े शहरों के लिए नाइट फ्लाइट सेवा शुरू की है। शुरूआत दिल्ली से की गई है। इसे रेड आई उड़ानें कहा जाता है। यह उड़ानें आमतौर पर रात्रि 11 बजे के बाद ही टेकऑफ होती हैं। इसे सस्ती उड़ान भी कहा जाता है, क्योंकि इन उड़ानों में किराया बहुत कम होता है। यह उड़ानें शुरू करने के लिए एयरपोर्ट पर 24 घंटे उड़ान संचालन की व्यवस्था जरूरी है जो फिलहाल भोपाल में नहीं है। पिछले दिनों एयरपोर्ट अथारिटी के मुख्यालय ने भोपाल में 24 घंटे उड़ान संचालन का प्रस्ताव खारिज कर दिया था। एयरपोर्ट प्रबंधन ने अगस्त 2018 में राजा भोज हवाई अड्डे को 24 घंटे फ्लाइट आपरेशन वाले टर्मिनल्स लिस्ट में शामिल करने का प्रस्ताव अपने दिल्ली स्थित मुख्यालय को भेजा जा था। अब नए सिरे से प्रस्ताव भेजने पर विचार किया जा रहा है। इस संबंध में एयरपोर्ट डायरेक्टर अनिल विक्रम का कहना है कि भोपाल से 24 घंटे उड़ान संचालन का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है। इसकी मांग जरूर आई है। मुख्यालय स्तर पर इसके प्रयास किए जाएंगे। हमारे पास पूरे संसाधन हैं, लेकिन निर्णय के अधिकार मुख्यालय को ही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *