31 मई तक प्रवासियों को ले जाने वाली श्रमिक ट्रेनों का खर्च उठायेगी येदियुरप्पा सरकार

बेंगलुरु । मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा है कि सरकार ने प्रवासी मजदूरों की स्थिति पर विचार करने के बाद निर्णय किया है कि 31 मई तक अन्य राज्यों के यहां फंसे श्रमिकों की वापसी के लिए चलने वाली विशेष श्रमिक ट्रेनों का खर्च राज्य सरकार उठायेगी।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर बताया कि लॉकडाउन के दौरान राज्य में फंसे मजदूरों और उनके परिवारों की आर्थिक स्थिति गंभीर है। इन लोगों के पास अपने घर जाने के लिए यात्रा के किराये के पैसे नहीं हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार दूसरे प्रांतों से यहां आकर काम करने वाले प्रवासी मजदूरों को अपना ही मानती है। मेरा मानना है कि राज्य सरकार को उनकी भी मदद करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रवासियों को घर भेजने के लिए सरकार कोशिश कर रही है। 31 मई तक चलने वाली श्रमिक विशेष ट्रेनों से श्रमिकों की वापसी का खर्च राज्य सरकार उठायेगी।

उल्लेखनीय है कि श्रमिक के लिए विशेष ट्रेनों का परिचालन करने के लिये रेलवे और राज्य सरकारों के बीच किराया 85:15 के अनुपात में वहन किया जा रहा है। लेकिन कुछ राज्यों ने अपने हिस्से को देने से इनकार कर दिया है। जिसके कारण श्रमिकों को यात्रा का भुगतान करना पड़ा है।

Leave a Reply